January 27, 2023 6:31 am

पावभाजी बेचने वाले युवक को मिला 1.5 करोड़ रुपए की GST चोरी का नोटिस, अफसर पहुंचे घर तो घबराकर पकड़ लिया सर…

रायगढ़:  छत्तीसगढ़ में GST चोरी का अजीबोगरीब मामला सामने आया है, GST विभाग के अधिकारियों एक पावभाजी बेचने वाले को अपनी रडार पर ले लिया। जबकि बेचारा अंतिम समय तक यही कहता रहा साहब मेरी तो कमाई भी इतनी नहीं है। कि मैं जीएसटी भर सकूं। यह पूरा मामला रायगढ़ जिले का है। इस पावभाजी बेचने वाले पर पूरे डेढ़ करोड़ की जीएसटी चोरी का आरोप लगा है। इसी मामले में जीएसटी के अफसरों ने पावभाजी बेचने वाले युवक के घर पर दबिश दी थी। ठेले पर पाव भाजी बेचने वाले युवक पर इतनी बड़ी जीएसटी चोरी का आरोप लगा तो युवक भी घबरा गया। उसे कुछ समझ नहीं आया। जीएसटी के अफसर युवक पर कार्रवाई करने की बात कर करने लगे। जब उसके घर पर पहुंचे तो उन्हें हकीकत पता चली। दरअसल इस पूरे मामले में युवक के आधार कार्ड का गलत इस्तेमाल किया गया। इस मामले में युवक ने एसपी ऑफिस पहुंचकर शिकायत दर्ज कराई है।

फास्टफूड की दुकान चलाता है राजेश

दरअसल राजेश कुमार जोगी रायगढ़ शहर में गौरी शंकर मंदिर मोड़ के सामने फास्ट फूड सेंटर चलाते हैं। इनके घर पर जीएसटी के अधिकारियों ने दबिश दी लेकिन उन्हें कुछ भी नहीं मिला। लेकिन यहाँ अधिकारियों को सच्चाई का पता चला। उसने यह भी बताया कि वह फास्टफुड का स्टॉल लगाता है। उसने बताया कि उसने कभी जीएसटी नंबर ही नहीं लिया। यह सुनकर अफसर भी हैरान हो गए।

आकाश ट्रेडर्स के नाम पर हुई 1.5 करोड़ की टैक्स चोरी

GST विभाग के अधिकारियों ने बताया कि आकाश ट्रेडर्स के नाम से लगभग डेढ़ करोड़ रुपए की GST चोरी की गई है। जीएसटी के अफसरों ने राजेश पर कार्रवाई की बात कही। राजेश कुमार ने बताया कि उसकी इतनी आमदनी नहीं है। राजेश ने साल 2021 में नगर निगम में दुकान के लिए आवेदन किया था। लेकिन उसके आधार कार्ड में कुछ गड़बड़ी के चलते उसे लाभ नहीं मिल पाया था।

धार कार्ड सुधरवाने के नाम पर हो गया शिकार

इस मामले के बाद राजेश अपनी शिकायत लेकर एसपी ऑफिस पहुंचा। एसपी ऑफिस पहुंचकर पीडित राजेश ने बताया कि उसने करीब डेढ़ साल पहले आधार कार्ड में गड़बड़ी सुधारने के लिए विशेष अग्रवाल नाम के युवक को दिया था। युवक ने मुझसे कहा था कि वह आधार कार्ड सही करवा देगा। इसके बाद मैंने उसे अपना आधार कार्ड दे दिया था। बाद में काफी समय बीत जाने के बाद उसने मुझे आधार कार्ड ही वापस नहीं किया है। अब जब अधिकारियों ने दबिश दी, तब उसे यह बात पता चली। युवक की शिकायत के बाद पुलिस ने इस मामले में जांच शुरू कर दी है।

Related Posts