May 25, 2024 2:23 PM

Search
Close this search box.

UP पुलिस का सिपाही और BDS का छात्र निकले स्मैक तस्कर, दो करोड़ के माल के साथ उत्तराखंड पुलिस ने किया अरेस्ट

हल्द्वानी: उत्तराखंड पुलिस के इतिहास में अबतक की सबसे बड़ी स्मैक की खेप पकड़ी गई है, जिसे देखकर पुलिस का भी सिर चकरा गया था. नैनीताल जिले के लालकुआं में पुलिस ने एक किलो 75 ग्राम स्मैक के साथ तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है. पकड़े गए तीनों आरोपी यूपी के रहने वाले बताए जा रहे हैं. आरोपियों में से एक यूपी पुलिस का सिपाही है.

नैनीताल एसएसपी प्रह्लाद नारायण मीणा ने इस मामले का खुलासा किया. उन्होंने बताया कि जिले भर में अवैध नशे के खिलाफ अभियान चलाया जा रहा है. इसी के तहत लालकुआं कोतवाली पुलिस और एसओजी की संयुक्त टीम भी इलाके में चेकिंग कर रही थी. तभी सुभाष नगर चेक पोस्ट पर पुलिस की नजर बाइक सवार तीन लोगों पर पड़ी.

नैनीताल एसएसपी प्रह्लाद नारायण मीणा ने बताया कि जब पुलिस ने बाइक सवार युवकों को रुकने का इशारा किया तो वो रुकने के बचाए भगाने लगे. हालांकि पुलिस ने उन्हें भागने में कामयाब नहीं होने दिया और वहीं पर धर दबोचा. पुलिस ने जब तीनों की तलाशी ली तो उनके पास से एक किलो से ज्यादा स्मैक बरामद हुई, जिसकी अंतरराष्ट्रीय बाजार में कीमत दो करोड़ से ज्यादा बताई जा रही है.

इसके बाद पुलिस तीनों को हिरासत में लेकर कोतवाली ले आई, जहां आरोपियों से पूछताछ की गई. पूछताछ में आरोपियों ने खुद के नाम मोरपाल, अर्जुन पांडे और रविंद्र सिंह बताया. आरोपी रविंद्र सिंह यूपी पुलिस में सिपाही है, जो इस समय यूपी के बरेली जिले में तैनात है. वहीं एक आरोपी होमगार्ड का बेटा है और बीडीएस का छात्र है.

पुलिस ने बताया कि तीनों आरोपियों का आपराधिक इतिहास खंगाला जा रहा है. पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि अधिक पैसे कमाने के लालच में वो काफी दिनों से ये काम कर रहे हैं. आरोपी ये स्मैक कहां से लाए थे और कहां पर किसे सप्लाई करनी थी, इसके बारे में पुलिस जानकारी जुटा रही है. ताकि उन पर भी कार्रवाई की जा सके.

Related Posts