June 17, 2024 5:23 AM

Search
Close this search box.

नहीं आया रहम ? सारस पे “सियासत” का सितम ! देखें FULL STORY : VIDEO

लखनऊ : प्यार मे किसी शख्स से जान लेने और देने की बातें तो आपने अक्सर सुनी होंगी लेकिन एक पक्षी से किसी इंसान से इतनी मुहब्बत हो जाए की दोनों ही एक दूसरे के बिना न रह पाएँ तो क्या कहिए आज आपको हम एक ऐसी ही दोस्ती की कहानी बताएँगे जो पूरे देश ही मे नहीं बल्कि विदेश मे भी मिसाल बनी हुई है ।  मामला अमेठी जिले के का है और करीब 1 साल पहले आरिफ को खेत में एक सारस घायल हालत में मिला था जिसके पैर में चोट लगी थी। आरिफ उसे अपने घर लेकर आ गया। उसकी मरहम पट्टी की और ठीक होने के बाद आरिफ़ ने उसे आज़ाद करने की भी कोशिश की लेकिन सारस पर आरिफ़ मरहम के लगाए मरहम का असर ऐसा हुआ की सारस आरिफ़ को छोड़कर नहीं गया और उसके साथ ही रहने लगा….

देखें “सारस और आरिफ़” की कहानी VIDEO (नीचे क्लिक करें)

आरिफ और सारस का प्यार सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा था सोशल मीडिया पर वीडियो देख उतर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री और सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव भी सारस और आरिफ़ का दोस्ताना देखने अमेठी पहुंचे जहां उन्होने दोनों के प्यार को खूब निहारा लेकिन अखिलेश ने वापिस पहुँच कर जब आरिफ़ और सरार की फोटो शेयर की तो दोनों की दोस्ती देश विदेश  के लोगों के साथ-साथ वन विभाग की भी नजरों में आ गई। और वन विभाग की टीम सारस को लेने आरिफ़ के घर पहुँच गई और कड़े कानून का हवाला देकर दोनों को जुड़ा कर दिया अब पूरे मामले मे राजनीति कारण होना शुरू हो गया और आरिफ़ और सारस की दोस्ती को ग्रहण लग गया वहीं वन विभाग की टीम के पहुँचने पर अखिलेश यादव ने तंज़ कसा की अगर मैं वहाँ सारस को देखने चला गया तो टीम भी पहुँच गई…

एक साल से आरिफ़ न अपने बच्चे से भी ज़्यादा सारस की परवरिश की एक साथ एक ही प्लेट मे खाना खाया एक साथ घूमे बाज़ार गए आरिफ़ के मुताबिक अगर वो देर से घर आता तो सारस गुस्सा होता उसे दुलारता चुमकारता और न जाने क्या क्या करता लेकिन सारस और आरिफ़ की अनोखी दोस्ती दुनियावालों को रास नहीं आई और सरकारी नुमाइंदों ने कानून का हवाला देकर आरिफ़ को सारस से जुड़ा कर दिया गया है फिलहाल सारस कानपुर के चिड़िया घर मे क़ैद है और आरिफ़ तन्हा अमेठी मे उदास बैठा है अब सवाल ये है की दोनों की दोस्ती तोड़ने वाला गुनहगार कौन है ? और क्या एक साल से साथ रह रहे सारस और आरिफ़ की दोस्ती राजनीतिकी भेंट चढ़ गई कारण कुछ भी रहा हो लेकिन दोनों ही एक दूसरे के बिना उदास हैं आरिफ़ का ये दावा है की अगर आज भी च्दिया घर से सारस को छोड़ दिया जाये तो वो सीधा उसके पास ही पहुंचेगा।