December 4, 2022 5:47 pm

232 प्रजातियों पर हुई रिसर्च मे खुलासा: पक्षियों में हो रहा तलाक, पुराने को छोड़ नए पार्टनर तलाश रहे पक्षी, पढ़ें रिसर्च की दिलचस्प बातें…

न्यूज़ डेस्क: तलाक के मामले में सिर्फ इंसानों में ही नहीं बढ़ रहे, पक्षी भी इनसे जूझ रहे हैं. इन पर हुई नई रिसर्च इनके अलगाव की नई कहानी कह रही है. रिसर्च कहती है, लम्बी दूरी तय करने वाले पक्षियों में अलगाव के मामले कम नहीं हैं. पक्षी हजारों किलोमीटर की दूरी तय करके एक से दूसरी जगह पहुंच रहे हैं और वापसी पर पार्टनर से अलगाव हो रहा है. इसकी वजह इंसान ही है. यह दावा चीन में पक्षियों की 232 प्रजातियों पर हुई रिसर्च में किया गया है. रिसर्च करने वाली चीन की सुन याट सेन यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं का दावा है कि लम्बी दूरी तय करने वाले पक्षियों में ब्रेक और तलाक लेने की दर कहीं ज्यादा है. ये ऐसे पक्षी हैं जो साल में दो बार एक से दूसरी जगह भोजन और ब्रीडिंग के लिए जाते हैं. जानिए, वो कौन से हालात हैं जो पक्षियों में अलगाव की वजह बन रहे हैं…

तलाक के लिए कौन है जिम्मेदार?

जिस तरह इंसानों में अलगाव के बाद वो नए पार्टनर को ढूंढ लेते हैं, वही पक्षियों में भी हो रहा है. शोधकर्ताओं का कहना है, रिसर्च में सामने आया है कि पक्षी अपने पुराने पार्टनर को छोड़कर नए साथी की तलाश कर रहे हैं. इसकी वजह है इंसान.

रिसर्च कहती है, जंगल काटे जा रहे हैं. इंसानों के कारण दुनियाभर में कार्बन-डाई-ऑक्साइड का स्तर बढ़ रहा है. नए शहर बस रहे हैं. इसका असर पक्षियों के जीवन पर पड़ रहा है. उनके ब्रीडिंग और खाने की जगह में बदलाव हो रहा है. आमतौर पर पक्षियों की 90 फीसदी आबादी ताउम्र एक साथी के बिताती आई है, लेकिन नई रिसर्च कहती है अब वो पुराने साथी को छोड़कर नए के नए के साथ आगे बढ़ रहे हैं.

सफर के दौरान मानसिक दबाव बढ़ता है

न्यू साइंटिस्ट की रिपोर्ट कहती है, इंसानी गतिविधियों के कारण जलवायु परिवर्तन और ग्लोबल वॉर्मिंग का असर दिखने लगा है. पक्षियों में बदलाव की वजह भी ये दोनों हैं. ऑस्ट्रेलिया के आर्मीडेल स्थित न्यू इंग्लैंड यूनिवर्सिटी के पक्षी विशेषज्ञ जिसेला कापलान का कहना है, जब पक्षी लम्बी दूरी तय करते हैं वो अलग-अलग तरह के पर्यावरण और जलवायु का सामना करते हैं. पक्षियों के मानसिक हालात पर इसका असर पड़ता है. वो मानसिक दबाव से जूझते हैं. कई बार उनके स्वास्ध्य पर भी असर पड़ता. ऐसे में उनके लिए पार्टनर के पास वापस लौट पाना मुश्किल हो जाता है. कई मामले ऐसे भी सामने आते हैं जब पक्षी भोजन खाने और ब्रीडिंग करने से भी मना कर देते हैं. ऐसे हालात में उसका पार्टनर उसे छोड़ देता है.

पक्षियों में बढ़ रहे तलाक की बड़ी वजह प्रदूषण, जलवायु परिवर्तन और ग्लोबल वॉर्मिंग के साथ मौसमी आपदाएं, तूफान और खराब मौसम भी हो सकती है. इनके कारण पक्षियों में कई तरह के बदलाव दिख रहे है. उनके उड़ने की क्षमता, प्रजनन क्षमता और मानसिक स्थिति पर असर पड़ रहा है. इसके अलावा कई बार पक्षी जब दूसरे देश पहुंचते हैं तो वहां सर्दी का मौसम देरी से शुरू होता है तो इसका असर भी उन पर पड़ता है.

Related Posts